आमिर खान की आगामी फिल्म लाल सिंह चड्डा जल्द ही सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है, इसलिए इसकी कास्ट ने मूवी के प्रमोशन में कोई कसर नहीं छोड़ी है, लेकिन इन दिनों ट्विटर पर boycott lal singh chaddha का टैग काफी तेजी से वायरल हो रहा है. यानि काफी ज्यादा लोग इस फिल्म के बायकाट की मुहीम चला रहे है. ऐसे में आज हम बात करने वाले है की आखिर वो क्या कारण है जिसकी वजह से सोशल मिडिया पर लोग इस फिल्म के बायकाट की मांग उठा रहे है? क्यों लोग लाल सिंह चड्डा फिल्म नहीं देखना चाहते है? तो चलिए शुरू करते है.

लालसिंह चड्डा फिल्म को बायकाट करने का पहला कारण -boycott lal singh chaddha

आमिर खान पर काफी समय से एंटीइंडियन या एंटीहिन्दू होने के आरोप लगते रहे है जिसके कारण समाज का एक बड़ा वर्ग आमिर खान की फिल्मो का विरोध करता है, और बायकाट करता है. पूर्व में आमिर खान के द्वारा कई बार विवादित बयाँ दिए गए थे. वहीँ वो अपनी फिल्मो में हिन्दू समाज की आस्था और पूजा पद्धति को लेकर सवाल उठाते दिखते है इसलिए हिन्दू समाज के प्रबुद्ध लोगो ने आमिर खान की फिल्मो को बायकाट करना का फैसला किया है.

आइये इसे कुछ बिन्दुओ के जरिये समझने का प्रयास करते है-

PK फिल्म में हिन्दू धर्म का मजाक उड़ाना-

आमिर खान की 19 Dec 2014 को रिलीज (Release) हुई फिल्म PK को लेकर काफी बवाल हुआ था क्योंकि उस फिल्म में हिन्दू धर्म की आस्था और पूजा पद्धति का मजाक उड़ाया था. हालाँकि PK फिल्म बॉक्स ऑफिस (Box Office) पर हिट हुई थी लेकिन समाज में चेतना के साथ साथ वर्तमान में हिन्दू विरोधी फिल्मे जो हिन्दुओ की आस्था का खिलवाड़ करती है का हिंदी समाज पुरजोर विरोध करना लगा है इसी कड़ी में आमिर की आने वाली फिल्म लाल सिंह चड्डा का बायकाट करने की मांग उठ रही है.

करीना कपूर खान द्वारा नेपोटीज्म को सपोर्ट करना-

आज से कुछ साल पहले जब बॉलीवुड के दिवंगत सुपरस्टार सुशांत सिंह राजपूत के द्वारा जब 14 June 2020 को आत्महत्या की गई, तो बॉलीवुड पर नेपोटीज्म(भाई-भतीजावाद) को बढ़ावा देने का आरोप लगा था उस समय करीना कपूर खान के द्वारा अहंकारवश एक बयां दिया गया था जिसमे उसने कहा था की, “हम किसी को जबरदस्ती फिल्म नहीं दिखाते, जिनको देखना है वो देखे और जिन्हें नहीं देखना है न देखे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है.” इस पर लोगो का कहना है की अगर जब स्टारकिड्स को ऑडीयंस की भावनाओ की कद्र ही नहीं है तो हम क्यों पैसे बर्बाद करके इनकी फिल्म देखने जाये. इसलिए काफी ज्यादा लोग करीना कपूर खान के विवादित बयान की वजह से भी इस फिल्म का बायकाट कर रहे है. 

आमिर खान के द्वारा भारत को अपने बच्चो के लिए असुरक्षित बताना-

इतिहास गवाह है की भारत एक शांतिप्रिय देश है भारत के मूल सनातनी हिन्दू बहुत ही ज्यादा सहिष्णु और अहिंसक है इसके बावजूद आमिर खान के द्वारा कुछ समय पहले ये कहा गया था की भारत मेरे परिवार और बच्चो के लिए सुरक्षित नहीं है, जबकि भारत में ऐसा कुछ है नहीं जो किसी को भारत में असुरक्षित महसूस करवाए. इसलिए लोगो का कहना है की आपको जहाँ पर सुरक्षित महसूस हो वहीँ पर जाकर फिल्म रिलीज करें. अगर आप दुसरे देशो के समक्ष भारत को अपमान करने का कार्य करेंगे तो हम आपको सपोर्ट नहीं कर सकते है.

आमिर खान का हिन्दू विरोधी रवैया

लाल सिंह चड्डा फिल्म में लीड रोल में आमिर खान है और अक्सर देखा गया है की आमिर खान हिन्दू धर्म की पूजा पद्धति, या फिर हिन्दू संस्कृति पर सवाल उठाते रहते है.

उनपर आरोप लगते रहते है की वो अपने धर्म की कमियां ना देख कर हिन्दू धर्म के लोगो को निचा दिखाने की कोशिश में लगे रहते है, लोगो का कहना है की वो शिवलिंग पर पर दूध से अभिषेक करने को गलत बताते है जानकी मजार पर चद्दर चढाते है, अगर वही चद्दर किसी गरीब को दी जाये तो ठण्ड से किसी गरीब की जान बचाई जा सकती है. भारत में हिन्दू बहुसंख्स्य्क है और अगर आप बहुसंख्यको की भावनाओ, आस्था या श्रद्धा का अपमान करोगे तो आप बदले में उनसे सम्मान मांगने के हकदार नहीं हो. इसलिए भी आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्डा का बायकाट करने की मांग उठ रही है.

लालसिंह चड्डा फिल्म को बायकाट करने का दूसरा कारण -boycott lal singh chaddha

आमिर खान की फिल्म लालसिंह चड्डा जल्द ही रिलीज हो रही है लेकिन लोग फिल्म का विरोध कर रहे है और इसके बायकाट की मांग कर रहे है, लोगो के द्वारा लीड रोल आमिर खान और करीना कपूर खान पर कई सारे आरोप लगाए जा रहे है. जो आमिर खान और करीना कपूर खान से जुड़े है जिनकी हमने ऊपर चर्चा की थी लेकिन इन प्रत्यक्ष कारणों के अलावा कई सारे कारण है जो पुरे बॉलीवुड जगत के खिलाफ जनता को विरोध करने को मजबूर करते है. जैसे की बॉलीवुड अभिनेता और अभिनेत्रियों के के नेपोटीज्म पर दिए गए विवादित बयान, आदि.

जगत के खिलाफ जनता को विरोध करने को मजबूर करते है. जैसे की बॉलीवुड अभिनेता और अभिनेत्रियों के के नेपोटीज्म पर दिए गए विवादित बयान, आदि.

आइये इन पर हम विस्तार से चर्चा करते है-

ज्यादातर अभिनेताओ के द्वारा मादक-पदार्थों को प्रमोट करना – boycott lal singh chaddha

बॉलीवुड के ज्यादातर अभिनेता मादक पदार्थों जैसे गुटका, पान-मशाला जैसे विज्ञापन में आते है जैसे की शाहरुख़ खान, अजय देवगन और अक्षय कुमार आदि.

अजय देवगन और शाहरुख़ खान पिछले लम्बे अरसे से पान मशाला के विज्ञापन में आ रहे है लेकिन हाल ही में अक्षय कुमार भी पान मशाला के विज्ञापन में आये जिससे लोगो का गुस्सा है की बॉलीवुड देश के युवाओं को नशे के जाल में धकेल रहा है, वहीँ बॉलीवुड में नशे को लेकर जो जाँच चल रही है वो किसी से छुपी हुई नहीं है.

सुशांत सिंह राजपूत को खोना

सुशांत सिंह राजपूत देश के एक ऐसे अभिनेता थे जो नेपोटीज्म के शिकार हो गए थे, और अंत में उन्होंने हार मान ली थी और एक रोज 14 June 2020 को आत्महत्या कर ली थी. इसे लेकर काफी ज्यादा बवाल हुआ था. युवाओं की खास पसंद सुशांत सिंह राजपूत को नेपोटीज्म का शिकार होना पड़ा इससे युवा वर्ग काफी नाराज हो गया और बॉलीवुड और स्टार किड्स का बायकाट करने की मांग करने लगा. और जब जाँच में नशेडी बॉलीवुड के कई सितारों पर आरोप लगे तो जनता ने बॉलीवुड का हमेशा के लिए बायकाट करने की मांग कई. 

बॉलीवुड अभिनेताओ के द्वारा हिन्दू धर्म का अपमान करना

बॉलीवुड अभिनेताओ पर समय समय पर हिन्दू धर्म का अपमान करने के आरोप लगते रहे है जैसे की अक्षय कुमार ने एक शो में कहा था की शिवलिंग का अभिषेक करना मात्र दूध की बर्बादी है इसलिए मई शिवलिंग का अभिषेक करने के खिलाफ हु. वहीँ सलमान खान बिश्नोई समाज के द्वारा पवित्र माने जाने वाले काले हिरन के चिंकारा का शिकार करके जीवप्रेमी बिश्नोई समाज के निशाने पर आ गये थे. जिससे इनके फिल्मो के बहिष्कार की मांग उठने लगी थी.

बॉलीवुड के अभिनेता और अभिनेत्रिओं के द्वारा समय समय पर हिन्दू धर्म का मजाक उड़ाया जाना हिन्दू समाज को अच्छा नहीं लगा और हिन्दू धर्म के लोग बॉलीवुड की फिल्मो के बहिष्कार की मुहीम चलने लगे जिससे बॉलीवुड घुटनों पर आ चूका है.

सिर्फ स्टार किड्स को ही बढ़ावा देना

बॉलीवुड में जब भी कोई नया अभिनेता आता है तो वो ज्यादा नहीं चल पाता है क्योंकि बॉलीवुड की फिल्मो पर सिर्फ स्टार किड्स का ही कब्ज़ा है सिर्फ स्टार किड्स को ही फिल्मो में काम मिलता है और उन्हें ही प्रमोट किया जाता है. ऐसे में काफी लम्बे समय से बॉलीवुड में काफी लम्बे समय से कुछ खान परिवारों का ही कब्ज़ा है जो अपने बच्चों को ही अच्छी फिल्मे दिलाते है बाकि नए कलाकार या तो उनसे प्रतिस्पर्धा नहीं कर पाते है या फिर उन्हें दुसरे तरीकों से बर्बाद कर दिया जाता है. जैसे सुशांत सिंह राजपूत के साथ हुआ था जिसे पहले ड्रग का आदी बनाया गया. और अंत में आत्महत्या के लिए उकसा दिया गया और परिणामसवरूप आज वो महान कलाकार हमारे बीच नहीं रहे.

इस तरह से जनता का गुस्सा भी लाजमी है. और जनता इन स्टार किड्स के खिलाफ अपना विरोध जाहिर करते हुए लाल सिंह चड्डा जैसी फिल्मो को बायकाट कर रही है.

5 Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *